bachcho ka kona

लालची कुत्ता / A Greedy Dog

लालची कुत्ता / A Greedy Dog

एक गाँव में एक कुत्ता था. वह बहुत लालची था. वह भोजन की खोज में इधर – उधर भटकता रहा. लेकिन कही भी उसे भोजन नहीं मिला.

अंत में उसे एक होटल के बाहर से मांस का एक टुकड़ा मिला. वह उसे अकेले में बैठकर खाना चाहता था. इसलिए वह उसे लेकर भाग गया.

एकांत स्थल की खोज करते – करते वह एक नदी के किनारे पहुँच गया. अचानक उसने अपनी परछाई नदी में देखी. उसने समझा की पानी में कोई दूसरा कुत्ता है जिसके मुँह में भी मांस का टुकड़ा है.

उसने सोचा क्यों न इसका टुकड़ा भी छीन लिया जाए तो खाने का मजा दोगुना हो जाएगा. वह उस पर जोर से भौंका.

भौंकने से उसका अपना मांस का टुकड़ा भी नदी में गिर पड़ा. अब वह अपना टुकड़ा भी खो बैठा. अब वह बहुत पछताया तथा मुँह लटकाता हुआ गाँव को वापस आ गया.

इस कहानी से शिक्षा :

लालच बुरी बला है. हमें कभी भी लालच नहीं करना चाहिए. जो भी इंसान लालच करता है वह अपनी लाइफ में कभी भी खुश नहीं रह सकता.

हमें अपनी मेहनत या किस्मत का जितना भी मिल गया. उससे अपना काम निकालना चाहिए.

लेकिन अगर हम थोड़ा ज्यादा के चक्कर में लालच करेंगे तो हमारे पास अभी जितना है उससे भी हाथ धोना पड़ सकता है. इसलिए कहते है ज्यादा लालच अच्छा नहीं होता.

Read In English

There was a dog in a village. He was very greedy.

He wandered here and there in search of food. But he did not get food anywhere.

Finally he found a piece of meat from outside a hotel. He wanted to eat her sitting alone. So he ran away with it.

While searching for a secluded place – he reached the banks of a river. Suddenly he saw his shadow in the river.

He understood that there is another dog in the water which also has a piece of meat in its mouth.

He thought why not take a piece of it, then the fun of eating will be doubled. He barked loudly at her.

His own piece of flesh also fell into the river due to barking.

Now he lost his piece too. Now he was very sorry and came back to the village hanging his face.

Education From This Story:

Greed is a terrible problem. We should never be lured. Any person who lures can never be happy in his life.

We got as much of our hard work or luck. He should get his work done from him.

But if we lure in a little bit more, then we may have to wash our hands even more than we have.

That is why it is said that more greed is not good.

कहानी सुनने के लिए ऑडियो को प्ले करिये

लालची कुत्ता / A Greedy Dog

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!